Thursday, December 8, 2022
Google search engine
Homeप्रदेशराजस्थानराजस्थान कांग्रेस में घमासान फिर तेज, सचिन पायलट ने हाईकमान से की...

राजस्थान कांग्रेस में घमासान फिर तेज, सचिन पायलट ने हाईकमान से की ये मांग


रमन झा : कांग्रेस में राजस्थान का बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है और मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर अशोक गहलोत बनाम सचिन पायलट का मामला और उलझता जा रहा है. राजस्थान में जारी कलह के बीच अशोक गहलोत ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ अपनी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान सचिन पायलट की तस्वीर को लेकर एक बार फिर सचिन पायलट पर खुला राजनीतिक हमला किया है. अशोक गहलोत ने दावा किया कि कांग्रेस विधायक पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में नहीं हैं. गहलोत ने यह भी दावा किया कि पायलट के पास केवल 10 विधायकों का समर्थन है।

इस बीच सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से मांग की है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री का फैसला गुप्त मतदान से ही लिया जाए. सूत्रों के मुताबिक ताजा घटनाक्रम के बाद सचिन पायलट ने कांग्रेस नेतृत्व से कहा कि अशोक गहलोत की कभी 10 तो कभी 20 विधायकों को समर्थन देने की बात मेरा ध्यान भटकाने की कोशिश है. कांग्रेस नेतृत्व से बातचीत में सचिन ने गहलोत को खुली चुनौती दी है और कहा है कि मुख्यमंत्री पद के लिए विधायकों की गुप्त राय ली जानी चाहिए, जिसमें गहलोत को समर्थन नहीं मिलेगा.

सूत्रों की माने तो सचिन पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से कहा कि अगर बहुमत अशोक गहलोत के पक्ष में आता है तो वह फिर से नेतृत्व परिवर्तन की मांग नहीं करेंगे और गहलोत के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे. सूत्रों का कहना है कि सचिन ने आलाकमान से कहा है कि मुझे सिर्फ और सिर्फ सीक्रेट बैलेट का फैसला ही मंजूर होगा. अशोक गहलोत को भी यह बात मान लेनी चाहिए।

लेकिन अशोक गहलोत की मानें तो पायलट ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं और सच तो यह है कि विधायकों का समर्थन किसके पास है, यह बात किसी से छिपी नहीं है.

राजस्थान को लेकर अब कांग्रेस नेतृत्व को फैसला करना है। गौरतलब है कि राजस्थान में पिछले कुछ महीनों से मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच खींचतान चरम पर है.



RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments