Tuesday, January 31, 2023
Google search engine
Homeप्रदेशछत्तीसगढ़3 साल पुरानी अंधी हत्याकांड सुलझ गया

3 साल पुरानी अंधी हत्याकांड सुलझ गया


रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में 3 साल पहले हुई अंधी हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. पुलिस ने मामले में 3 शातिर आरोपितों को गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार परसाड़ा निवासी देवेश जांगड़े की हत्या चरित्र संदेह के चलते की गई है, जिसका खुलासा पुलिस ने किया है.

जानकारी के मुताबिक तीन साल पहले 29 सितंबर को मंदिर हसौद थाने में देवेश झांगड़े के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. अमन जांगड़े ने बताया था कि, देवेश बिना किसी को बताए घर से निकल गया है।

इसी बीच अगले ही दिन अमन थाने पहुंचा और अपने छोटे भाई के शव की सूचना पंखाटिया तालाब के किनारे किनारे पर पड़ी। पुलिस ने मामला कायम करने के बाद शुरू में पूरे मामले की जांच शुरू कर दी थी।

शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार किसी ठोस वस्तु से गला घोंटकर उसकी हत्या की गई है। पुलिस टीम बनाकर मामले की जांच शुरू की गई। अचानक 3 साल बीत गए।

मंदिर हसौद पुलिस की संयुक्त टीम ने तीन साल पहले से चल रही हत्या के मामले में मृतक के भाई समेत आसपास के लोगों से विस्तृत पूछताछ की.

इसी बीच टीम के सदस्यों को सूचना मिली कि मृतक देवेश जांगड़े ने अपने साथियों अमन जांगडे, चांदशेखर और कमलेश के साथ गांव के परसाड़ा के पंखाटिया तालाब में आखिरी बार मछली पकड़ी थी. इसके बाद अमन जांगडे को पकड़ा गया। पुलिस ने सबूतों के आधार पर अमन जांगडे से सख्ती से पूछताछ शुरू की।

आरोपी ने बताया कि मृतक के एक अन्य आरोपी की बहन से अवैध संबंध होने की चर्चा गांव में चल रही थी, जिसके चलते तीनों ने मिलकर उसे मौत के घाट उतार दिया. पुलिस तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त बिजली के तार को उनके कब्जे से जब्त कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments