Thursday, January 26, 2023
Google search engine
Homeप्रदेशछत्तीसगढ़भानुप्रतापपुर उपचुनाव: कौन बनेगा भानुप्रतापपुर का बादशाह, कांग्रेस फिर करेगी कमाल या...

भानुप्रतापपुर उपचुनाव: कौन बनेगा भानुप्रतापपुर का बादशाह, कांग्रेस फिर करेगी कमाल या बीजेपी को मिलेगा मौका


भानुप्रतापपुर उपचुनाव: भानुप्रतापपुर उपचुनाव के नतीजे कल यानी गुरुवार को आएंगे, बाजी किसने बाजी मारी और जनता ने किस पर विश्वास किया, यह कल तय होगा. नतीजा किसी के भी पक्ष में हो लेकिन दोनों ही प्रमुख राजनीतिक पार्टियां कांग्रेस और बीजेपी अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं. आपको बता दें कि यहां पांच दिसंबर को मतदान हुआ था, मतदान प्रतिशत 71.74 रहा था. बता दें कि भानुप्रतापपुर में उपसभापति व कांग्रेस विधायक मनोज मंडावी के निधन के बाद उपचुनाव हुआ था.

कांग्रेस ने दिवंगत मनोज मंडावी की पत्नी सावित्री मंडावी को मैदान में उतारा था, जबकि भाजपा ने ब्रह्मानंद नेताम को मैदान में उतारा था। यहां चुनावी मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही देखने को मिला, बता दें कि सीएम भूपेश बघेल ने कांग्रेस की तरफ से चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी संभाली थी, वहीं बीजेपी की ओर से प्रदेश का शीर्ष नेतृत्व भी चुनाव प्रचार में लगा हुआ था.

कांग्रेस ने जीत का दावा किया

नतीजे आने से पहले ही कांग्रेस कर चुकी है जीत का दावा बघेल सरकार में मंत्री कवासी लखमा ने जीत का दावा करते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यालय में उत्साह के साथ जश्न मनाएगी. मनोज मंडावी की लोकप्रियता भानुप्रतापपुर उपचुनाव में जीत दिलाएगी। रमन सिंह की सरकार ने 15 साल में जो नहीं किया, भूपेश बघेल ने कर दिखाया, इसलिए कांग्रेस पार्टी जीतेगी चुनाव, देव गुड़ी से घोटुल, 10 करोड़ की कर्जमाफी सहित कई विषय बस्तर संभाग के कांकेर में सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे लोग रहते हैं.

बीजेपी ने भी जीत का दावा किया

जहां बीजेपी ने भी अपनी जीत का दावा किया है, वहीं बीजेपी के वरिष्ठ विधायक और पार्टी प्रवक्ता अजय चंद्राकर ने कहा, ‘आज की तारीख में कांग्रेस निश्चित रूप से चुनाव हारने जा रही है.’ आरक्षण का विषय जबरदस्ती उठाया गया, आदिवासियों को अपमानित करने का कृत्य। चाहे उसे बलात्कारी कहने से या चंद रुपयों के लिए उसके पर्चे बेचने से कुछ हासिल नहीं होने वाला। मोहन मरकाम चरित्र पत्र बांट रहे हैं, अगर हम उनके चरित्र पत्र बांटेंगे तो वह कोंडागांव से बाहर नहीं निकल पाएंगे। भाजपा किसी की निजी जिंदगी में झांक कर नहीं देखती, सरकार ने अवैध तरीके से उपचुनाव लड़ा है।

उपचुनाव सेमीफाइनल की तरह

जीत कोई भी हो, लेकिन भानुप्रतापपुर उपचुनाव सभी राजनीतिक दलों के लिए सेमीफाइनल होगा, क्योंकि इसे 2023 के विधानसभा चुनाव के लिए चुनावी उलटी गिनती माना जा रहा है, हालांकि अब सबकी निगाहें कल आने वाले नतीजों पर टिकी हैं.

भानुप्रतापपुर विधानसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत

2003 – 70.34 प्रतिशत
2008- 65.85 प्रतिशत
2013 – 79.26 प्रतिशत
2018 – 77.25 प्रतिशत
2022 – 71.74 प्रतिशत

भानुप्रतापपुर विधानसभा चुनाव के अब तक के नतीजे

2003 के परिणाम

देवलाल दुग्गा – बीजेपी को 40,803 वोट मिले
मनोज मंडावी – कांग्रेस को 39,424 वोट मिले
जीत-हार का अंतर- बीजेपी के देवलाल दुग्गा 1379 वोटों से जीते

2008 के परिणाम

ब्रह्मानंद नेताम, भाजपा, 41,384 वोट
मनोज मंडावी- कांग्रेस को 25905 वोट मिले थे
हार का अंतर – बीजेपी के ब्रम्हानंद नेताम 15479 वोटों से जीते

2013 के परिणाम

सतीश लटिया – बीजेपी को 49941 वोट मिले
मनोज मंडावी – कांग्रेस को 64837 वोट मिले थे
जीत का अंतर- कांग्रेस के मनोज मंडावी 14896 वोटों से जीते

2018 परिणाम

देवलाल दुग्गा – बीजेपी को 45827 वोट मिले थे
मनोज मंडावी- कांग्रेस को 72520 वोट मिले थे
जीत का अंतर – कांग्रेस के मनोज मंडावी 26693 वोटों से जीते

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments