Thursday, February 2, 2023
Google search engine
Homeधर्म/ज्योतिषसंकष्टी चतुर्थी पर गणेश जी के ये उपाय दूर करेंगे संकट

संकष्टी चतुर्थी पर गणेश जी के ये उपाय दूर करेंगे संकट


संकष्टी चतुर्थी 2022: हर साल मार्गशीर्ष महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी (या संकष्टी चतुर्थी) को भक्त गजानन गणेश के महा गणपति रूप की पूजा करते हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार उनका यह रूप भक्तों के सभी कष्टों को हरने वाला है। तंत्र शास्त्रों में बताया गया है कि इस दिन गणेश जी की पूजा करें और कुछ तांत्रिक उपाय करें (गणेश जी के टोटके)। ये उपाय करने में बहुत आसान हैं और तुरंत लाभ देते हैं।

इस वर्ष संकष्टी चतुर्थी 12 नवंबर 2022 (शनिवार) को आ रही है। आप भी इस दिन गणेश जी के इन उपायों को करके अपना भाग्य बदल सकते हैं। जानिए संकष्टी चतुर्थी की तिथि और गणेश जी के कुछ शक्तिशाली तांत्रिक उपायों के बारे में

यह भी पढ़ें: संकष्टी चतुर्थी 2022: गणेश चतुर्थी पर इन उपायों से होगा दुर्भाग्य, पूरे होंगे काम

संकष्टी चतुर्थी व्रत और पूजा मुहूर्त कब है (संकष्टी चतुर्थी 2022 तिथि और मुहूर्त)

ज्योतिषियों के अनुसार संकष्टी चतुर्थी 11 नवंबर 2022 (शुक्रवार) को रात 8.17 बजे से शुरू होकर 12 नवंबर 2022 (शनिवार) को रात 10.25 बजे समाप्त होगी. शनिवार के दिन दिन में कभी भी गणेश जी की पूजा की जा सकती है।

संकष्टी चतुर्थी पर करें गणेश जी के ये उपाय (गणेश जी के उपय)

यह भी पढ़ें: सुख-समृद्धि-सौभाग्य पाने के लिए शनिवार के दिन ऐसे करें गणेशजी की पूजा

  • संकष्टी चतुर्थी लेकिन सुबह जल्दी उठकर ब्रह्म मुहूर्त में भगवान गणेश को बेसन या मूंग के लड्डू और गुड़ का नैवेद्य अर्पित करें. ऐसा करने से व्यक्ति पर अचानक आने वाले कष्ट समाप्त हो जाते हैं।
  • जो लोग अपना खुद का खरीदना चाहते हैं उन्हें श्री गणेश पंचरत्न स्रोत का पाठ संकष्टी चतुर्थी के दिन से शुरू कर देना चाहिए। ऐसा रोजाना करने से व्यक्ति जल्द ही अपना घर खरीद सकता है।
  • जिन लोगों को अपार धन प्राप्ति की इच्छा होती है, उन्हें संकष्टी चतुर्थी के दिन गणपति की पूजा करनी चाहिए और उनके तांत्रिक मंत्र ‘O श्रीरिं श्रीं ह्रीं क्लें श्री क्लें वित्तेश्वराय नमः’ की 11 माला जप करनी चाहिए। इसके बाद प्रतिदिन इस मंत्र की एक माला जाप करें। जल्द ही आय के नए स्रोत बनेंगे और घर में धन का आगमन होने लगेगा।
  • भगवान विनायक को प्रसन्न करने के लिए संकष्टी चतुर्थी के दिन शमी वृक्ष की पूजा करनी चाहिए। साथ ही गणेश जी के मंदिर में जाकर उन्हें शमी के पत्ते चढ़ाएं। इस उपाय को करने से भक्तों को बल, बुद्धि, ज्ञान और धन की प्राप्ति होती है।
  • संकष्टी चतुर्थी के दिन उपवास रखें और उनके पसंदीदा तंत्रोक्त मंत्र ‘ओम श्री ह्रीं क्लीं ग्लैम गणपतये वर वरद सर्वजनं में वाशमनय स्वाहा’ की 11 माला जप करें। इसके बाद उनसे प्रार्थना करें कि आपके कष्ट दूर हो जाएं। कुछ ही दिनों में भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

अस्वीकरण: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष के ज्ञान पर आधारित है और केवल सूचना के उद्देश्य से दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। कोई भी उपाय करने से पहले संबंधित विषय के विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments