Wednesday, February 1, 2023
Google search engine
Homeधर्म/ज्योतिषमोक्षदा एकादशी पर इन उपायों से दूर होंगे हर संकट

मोक्षदा एकादशी पर इन उपायों से दूर होंगे हर संकट


मोक्षदा एकादशी के उपाय: हिंदू धर्म में एकादशी की तिथि को सबसे पवित्र माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी के दिन व्रत करने से सभी पापों का नाश होता है और व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन सच्चे मन से भगवान की पूजा करके जो कुछ भी मांगा जाता है, वह अवश्य प्राप्त होता है। दिसंबर महीने की पहली एकादशी 3 सितंबर 2022 को आएगी। इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी भी कहा जाता है।

इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत के युद्ध से पहले अर्जुन को श्रीमद्भागवत गीता का उपदेश भी दिया था। इसलिए इसे गीता जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहते हैं। जानिए इस दिन के शुभ मुहूर्त और उपायों के बारे में

यह भी पढ़ें: Ekadashi Vrat: एकादशी पर ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा, मां लक्ष्मी देगी घर का सारा भंडार

मोक्षदा एकादशी और गीता जयंती पर क्या है पूजा का मुहूर्त?

मोक्षदा एकादशी का आगमन- 3 दिसंबर 2022 (शनिवार) को सुबह 5 बजकर 39 मिनट पर
मोक्षदा एकादशी समाप्त – 4 दिसंबर 2022 (रविवार) को सुबह 5 बजकर 34 मिनट पर
मोक्षदा एकादशी पार करने का समय- 4 दिसंबर 2022 (रविवार) दोपहर 1 बजकर 14 मिनट से 3 बजकर 19 मिनट तक

मोक्षदा एकादशी पर इन उपायों से दूर होंगी सभी परेशानियां

यह भी पढ़ें: Ekadashi ke Upay: किसी भी एकादशी पर करें यह उपाय, घर में बरसने लगेगा धन

  • आजकल कई घरों में पितृदोष होता है। कई लोगों की कुंडली में भी पितृदोष की शिकायत रहती है। ऐसे लोगों को पितरों की शांति के लिए मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को विधिपूर्वक काले तिल अर्पित करने चाहिए। इस एकादशी के इस उपाय से पितरों को मोक्ष की प्राप्ति होती है और पितृदोष दूर होता है। एकादशी का यह उपाय (Ekadashi Ke Upay) इससे ही व्यक्ति को सभी प्रकार के सुख-सुविधाएं प्राप्त होती हैं।
  • इस एकादशी को बहुत पवित्र माना जाता है क्योंकि इस दिन गीता जयंती है। इस दिन यदि घर में श्रीमद्भागवत गीता का पाठ किया जाए और केवल गीता के अध्यायों का ही दहन किया जाए तो उस व्यक्ति के सभी संकट दूर हो जाते हैं।
  • शास्त्रों में एकादशी की तिथि भगवान विष्णु को समर्पित की गई है। इस दिन भगवान विष्णु या श्रीकृष्ण की पूजा करने और उन्हें तुलसी अर्पित करने से भी व्यक्ति के सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। इस दिन एकादशी व्रत यदि भगवान विष्णु की पूजा की जाए तो लक्ष्मी जी ऐसे व्यक्ति पर प्रसन्न होकर उसे सभी प्रकार के भंडार प्रदान करती हैं।

अस्वीकरण: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है और केवल जानकारी के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है. कोई भी उपाय करने से पहले संबंधित विषय के विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments