Thursday, February 2, 2023
Google search engine
Homeधर्म/ज्योतिषइन लोगों पर ग्रहण और सूतक के नियम लागू नहीं होते हैं

इन लोगों पर ग्रहण और सूतक के नियम लागू नहीं होते हैं


चंद्र ग्रहण 2022: ज्योतिषियों के अनुसार किसी भी ग्रहण से करीब तीन प्रहर यानी नौ घंटे पहले सूतक लग जाता है। ऐसे में आज लगने वाले कुल चंद्र ग्रहण का सूतक काल शुरू हो गया है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण के सूतक काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए अन्यथा इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। हालांकि कुछ खास जगहों पर इस नियम में ढील भी दी गई है।

चंद्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम (चंद्र ग्रहण नियम)

शास्त्रों के अनुसार सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण दोनों में कुछ क्रियाओं का स्पष्ट निषेध है। इस समय भगवान की मूर्तियों को नहीं छूना चाहिए। स्त्री के साथ सेक्स और सोना भी नहीं चाहिए। अगर आप कोई नया काम शुरू कर रहे हैं तो उस काम को ग्रहण खत्म होने तक टाल दें।

यह भी पढ़ें: देव दीपावली का पावन पर्व आज, जानिए पूजा विधि, उपाय समेत तमाम जानकारियां

ग्रहण के समय करें ये काम

ज्योतिषियों के अनुसार ग्रहण काल ​​में किया गया दान-पुण्य अनंत गुणा फल देता है। इसलिए इस दौरान मंत्रों का जाप, दान और हवन करना चाहिए। ग्रहण समाप्त होने के बाद जितना हो सके दान करना चाहिए। यह सभी प्रकार के दुर्भाग्य को दूर करता है और सुख और सौभाग्य लाता है।

इन 4 प्रकार के लोगों पर सूतक के नियम लागू नहीं होते

सूतक और ग्रहण काल ​​में सभी लोगों को नियमों का पालन करना चाहिए। हालांकि विशेष परिस्थितियों में इन नियमों में ढील दी गई है। चूंकि बच्चे, बूढ़े, बीमार और दामाद गृहस्थ इन नियमों से बंधे नहीं हैं। ये सभी कार्य ग्रहण काल ​​में भी कर सकते हैं जिसके लिए अन्य लोगों को वर्जित किया गया है।

अस्वीकरण: यहां दी गई जानकारी पौराणिक मान्यताओं पर आधारित है और केवल सूचना के उद्देश्य से दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments